Tuesday, September 21, 2021
Home Internet IP Address क्या है? | What is IP address in Hindi

[IPv4 vs IPv6] IP Address क्या है? | What is IP address in Hindi

Internet में Networking के लिए बहुत महत्वपूर्ण चीज की जरूरत होती है उनमें से IP address एक बहुत महत्वपूर्ण चीज है। आप यदि Internet use करते हो तो आप IP address का नाम कही न कही सुना होगा। पर आपको क्या IP address के बड़े में पता है। नहीं, तो इस लेख में आपको बता देता देता हूं IP Address kya hai (What is IP Address in Hindi)। और ये भी बताऊंगा कि IP Address कैसे पता करे। IP address की पूरी जानकारी लेने के लिए इस लेख को अंत तक मन लगाके पढ़ो।

IP Address का full form क्या है? – What is the Full Form of IP Address?

सबसे पहले जान लीजिये IP Address ka Full Form kya hai?

IP address का full form है

Internet Protocol Address

(इंटरनेट प्रोटोकॉल एड्रेस)। 

IP Address क्या है? – What is IP address in Hindi?

IPv4 vs IPv6, IP Address क्या है?, What is IP address in Hindi

 

IP Address एक internet की Address होता। IP Address कुछ Number होता है जो हर एक Digital device के लिए अलग अलग होता है। इसी number मतलब IP Address के जरिये Internet में एक device से दूसरे device में data send और receive हो पाता है। IP address किसीभी digital device की एक पहचान होती है। IP address को कुछ number में लिखा जाता है और उस number को Dot (.) या colon (:) के जरिये अलग अलग किया जाता है। किसी भी IP address दिखने में 129.32.111.40 इस तरह की होती है।

IP address अलग अलग device के लिए अलग अलग होता है। और दुनिया भर की device इसी IP Address के वजह से एक दूसरे के साथ अच्छे से communicate कर पाता है और आपस में data share कर पाता है। जैसे आप जहां रहती हो मतलब आपकी घर की एक address होता है। कोई भी आपकी घर की address में कुछ भी भेजता है तो वह आपके पास पहुंच जाता है। इसी तरह IP address के जरिये एक device से दूसरे device तक Data भेजा और प्राप्त किया जाता है।

IP address का इस्तेमाल क्यों होता है?

आप IP address kya hai जानलिया अब आपको IP address मतलब Internet protocol address का इस्तेमाल क्यों होता है वह आपको बता देता हूं।

आपको पहले बता दिया की IP address एक Network address होता है। इस Address के जरिये एक computer से दूसरे computer जुड़ पता है। पर यहां पर आपको बतादु की IP address की इस्तेमाल है digital device को अलग अलग करना। मतलब दुनिया की सारे device को एक पहचान देके दूसरे device से अलग किया जाता है। इसलिए अलग अलग device के लिए IP address unique मतलब अलग अलग होती है।

इसी IP address के माध्यम से device को अलग अलग पहचान देके अलग करने के वजह से internet में किसी एक device से दूसरे किसी specific device को data आसानी से भेजा जा सकता है। 

आप शायद जानते होंगे कि दुनिया मे कितना digital device है। इन सारे device कि अलग अलग पहचान नहीं होती तो शायद internet ही नहीं बन पाता। इसी IP address के वजह से अच्छे से अलग अलग device में communicate हो पाता है।

आप एक Example से समाज लीजिए जैसे आप जहां रहते हो तो वहां पर बहुत सारे लोग होंगे। उन सारे लोगों की एक अलग अलग पहचान और address होती है। इसलिए उन सारे नाम और address का use करके किसी एक व्यक्ति को कुछ भेजा जा सकता है। जैसे आपकी भी एक address होंगे उस address को use करके में चाहूं तो आपको Post Office के माध्यम से कुछ भेज सकता हु और वह आपकी पास जाकर पहचेगा। आपका कोई address नहीं होता तो। क्या आपके पास कुछ भेजा जा सकता?

इसी तरह internet में IP Address का इस्तेमाल होता है और मेरे device से आपकी device में या आपकी device से दूसरे device में data की सही से लेनदेन हो पाता है।

जब आप आपकी browser में किसी site की नाम search करते हो जैसे gyaanduniya.in तब वह brower इस site की DNS Server को request भेजता है। इस DNS Server इस site कि server को  IP address को ढूंढता है और उस IP address के जरिये उस server में पहुँच कर इस site कि content आपको दिखता है। इसी तरह internet में IP Address का इस्तेमाल होता है।

IP address कितने प्रकार की होती है? – Type Of IP Address?

आप IP address in hindi जाना अब आपको IP address के type के बढ़े में बता देता हूं।

IP address दो प्रकार की होती है। 

1) Private IP address

2) Public IP address

Private IP address क्या है?

आपको निजी दो या उसे ज्यादा device को एक दूसरे से जोड़ने के लिए Private IP का उपयोग किया जाता है। Private IP आपकी area जैसे आपकी गर या office की मतलब आपकी local area network की computer को एक दूसरे से जोड़ ने के लिए use होता है। Private IP address से आप बाहर की कोई computer को नहीं जोड़ पयोगे और internet भी नहीं use कर पयोगे।

Private IP address सिर्फ आपकी निजी computer के लिए use किया जाता है। ये Modem या router द्वारा set किया जा सकता है।

Public IP address क्या है?

Public IP address वह IP address होता है जिस IP address से आप बाहर की device के साथ connect कर सकते। जब आप internet चलाते हो किसी website में visit करते हो तब आपकी Public IP address का उपयोग होता है।

Public IP address Internet service provider के द्वारा provide किया जाता है। Public IP के द्वारा आप Internet चला सकते हो।

★ Public IP address और Private IP address दो तरह की होती है वह है 

1) Dynamic Public/Private IP address

2) Static Public/Private IP address

Dynamic IP address क्या है?

 Dynamic IP address अपने आप बदलता रहता है। आपकी Public या Private IP address Dynamic होगा तो वह कुछ समय के अंतर बदल ता रहेगा।

Static IP address क्या है? 

Static IP address खुद से नहीं बदल त। ये IP एक ही रहता है। जब तक आप खुद से ये IP बदल नहीं देते तब तक ये IP address नही बदलेगा।

Static IP address कुछ internet की Game खेलने के लिए मतलब जिस game में IP address से connect करने की सुविधा है उस तरह की game खेलने के लिए Static IP address का उपयोग होता है।

IP address की version क्या है?

दुनिया में इंसान के द्वारा बनाया गया कुछ भी चीज को एक बार बनाने के बाद उस चीज को और बेहतर बनाने के लिए उसके ऊपर research करते है और उसे और बेहतर बनाते है। जिस को english में Update करना कहते है।

किसी चीज को एक बार बनाने के बाद उसको जितने बार update किया जाता है उस update का एक नाम भी दिया जाता है। उसको Version कहते है। 

जैसे आप Mobile में mobile software की update होने के बाद Version बदल जाता है और उस version के एक नाम दिया जाता है जैसे android 9, Android 10, Android 11। 

इसी तरह IP address की भी Version होता है। IP address को बनाने के बाद उसको भी बेहतर करने के लिए update किया जाता है। 

अभी के समय मे IP address की दो version उपयोग होता है वह है 

1) IPv4

2) IPv6

इसी दो version अभी के device में use होता है। तो चलिए इन दो version के बड़े में अच्छे से जानकारी दे देते है।

IPv4 का मतलब क्या है? – IPv4 meaning in Hindi?

IPv4 का मतलब Internet Protocol version four है। IP Address को बनाने के बाद IP address की ये चउथा

verson है इसलिये इस version का नाम IPv4 रखा गया। अभी के समय में भी आपको इस IP address को बहुत सारे device में देखने को मिलेगा।

इस version कि IP address 32 bit की होती है। और इस IP address में 0 से 255 के अंदर number होता है। IPv4 IP address को चार octet में बाटा गया हर octet को dot के माध्यम से बाँटा गया। ये IP address देखने मे 120.30.111.5 इस तरह की होती है।

IPv6 का मतलब क्या है? – IPv6 meaning in Hindi?

IPv6 का मतलब Internet Protocol Version six है। ये IP address की छठा version है इसलिए इसका नाम IPv6 रखा गया।

ये IPv6 IP address IPv4 से advanced है। इस version कि IP length 128 bit की होती है। इस तरह की IP address में number के साथ english letter भी use किया जाता है। IPv6 IP को 8 octet में बाटा गेया। इस तरह की IP Address देखने में (2001:0db8:85a3:0010:0a00:

8b2e:0370:7b34) इस तरह की होती है।

IPv4 से 4 billion तक ही unique IP address बनाया जा सकता है और ये संख्या device की संख्या से कम है इसलिए IPv6 Version को launch किया गया। IPv6 से 340 trillion तक nuiqueIP बनाया जा सकता है जो कि बहुत ज्यादा है। 

IPv4 और IPv6 में क्या अंतर है? – IPv4 vs IPv6

आप तो जान गए कि IPv4 और IPv6 क्या है। अब आप आपको बता देता है कि इन दोनों version में क्या क्या अन्तर है।

IPv4

IPv6

1) Length 32 bit की होती है।

1) Length 128 bit की होती है।

2) इस Version की IP की 4 actet होते है। हर एक octet dot (.) से बांटा हुया है।

2) उस Version कि IP 8 actet से बांटा हुआ है। हर एक octet colon (:) से बांटा हुया है।

3) इस version की IP में Security ज्यादा security के ऊपर दया नहीं दिया गया इसलिए  इस तरह की IP में security ज्यादा नहीं है।

3) इस तरह की IP में ज्यादा ध्यान security के ऊपर दिया गया इसलिए इस version की IP की security बहुत ज्यादा है।

4) इस version कि IP address में 0 से 255 तक के बीच number का use किया गया।

4) इस तरह की IP में 0 से FFFF की मतलब Number के साथ Latter की भी use किया जाता है।

5) इस version की IP से 4 billion तक ही IP address बनाया जा सकता है।

5) इस version की IP से (3.4 x 10^38) लगभग 340 trillion तक unique IP address बनाया जा सकता है।

6) इस version की IP address की class होती है वह Class है Class A, Class B, Class C, Class D, Class E।

6) इस version की IP की कोई class नहीं है।

इस तरह की example है 120.30.111.5

इस तरह की IP की example है 2001:0db8:85a3:0010:

0a00:8b2e:0370:7b34

IP address कैसे पता कर?

आप यदि ये जानना चाहते हो कि खुदकि IP address kaise pata kare तो यहां पर आपको बता देता हूं।

आपको पहले बता दिया कि IP address दो प्रकार की है। एक है Public IP address और एक Private IP address। इनमें से आप यदि इन दोनों IP क्या है आपकी device की वह जानने की तरीका एक एक करके आपको बता देता है। : –

Find Public IP address

आप यदि Mobile, Laptop या Computer कोईभी device आप use कर रहे हो उसकी Public IP जानने के लिए Google में जाकर search करो ‘What is My IP address’। उसके बाद search result में feature shipped में आपको आपकी IP Address देखने को मिल जाएगा। वह IP आपकी Public IP होगा।

Find Private IP address : –

किसी भी Device की Private IP address जानना इतना आसान नहीं। क्यूकी Private IP address किसी public को देखने के लिए नहीं  बनाया। आपकी Device जब Wifi या Router के साथ connect होता है तब आपको router या Wifi के द्वारा private IP address मिलता है। 

अलग अलग device की private IP address अलग अलग तरीके से निकाला जाता है। वह कैसे निकाल सकते हो वह बता देता हूं।

Android और IOS device के लिए : –

Step 1) आपकी connected device की WIFI setting open करो। 

Step 2) आपकी device के साथ जिस device connected है उस device की नाम के ऊपर click करो। वहा पर आपको एक IP address मिलेगा वह IP address Private address है।

दूसरा आपकी Computer और Laptop की Private IP address के लिए : –

Step 1) आपकी device की Command Prompt open करो।

Step 2) वहां Type करो ‘ipconfig’।उसके बाद Enter press करो।

आपकी Private IP address वहां आपको देखने को मिलेगा।

इसी तरह आप आपकी Device की IP address find कर सकते है।

Conclusion

आजकी इस लेखमें आप जाना IP address kya hai (What Is IP address in Hindi) हिंदी में। इस लेखमें आपको IP address के बड़े में पूरी जानकारी देने की कोशिश की। मुझे उमीद है कि आपको IP address in hindi के बढ़े में सारे जानकारी मिलगेया है। ये लेख आपको अच्छा लगे तो जरूर अपने दोस्तों के साथ share कर देना।

RELATED ARTICLES

Web Browser क्या है और कैसे काम करता है? | What is Web Browser in Hindi

Web Browser in Hindi : internet तो हम सब लोग use करते हैं। इंटरनेट के जरिए किसी की भी चीज की information...

WAN Full Form, LAN Full Form in Hindi | WAN, LAN, MAN meaning in Hindi

WAN Full Form in Hindi : आप यदि इंटरनेट के बारे में जानकारी रखना बहुत पसंद करते हैं, या आप कई exam...

Password Meaning in hindi | Password का अर्थ क्या है?

Internet में जब आप किसी website में एक account बनाते हो तब वहां पर एक password set करने को बोलता है। पर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Tiki app kya hai? | Tiki app kis desh ka hai?

आप यदि short video बनना पसंद करते हो या Short Video देखना पसंद करते हो तो आप Tiki app का नाम सुना होगा। आज...

CAPTCHA Meaning in Hindi | CAPTCHA Code क्या है और कैसे Solve करे?

आप यदि captcha meaning in hindi जानना चाहते हो तो आप सही जगह आये हो। इस लेख में आपको captcha या captcha code के...

End To End Encrypted meaning in Hindi | End To End encryption kya hai?

Whatsapp और signal app आपको end to end encrypted security की सुविधा देती है। ये बात तो आप सुना होगा। पर क्या आपको पता है कि...

Wombo app kya hai? Wombo app kaise chalaye aur wombo AI video kaise banaye?

कुछ दिन से internet में एक video बहुत viral हो रहा है। जहां पर किसीकी selfie photo को गाने की lyrics बोलने बाला video...

URL क्या है और URL का full form क्या है? | URL meaning in Hindi

क्या आप जानते हो URL kya hai? और कैसे काम करता है? नहीं तो इस लेख को पढ़ो इस लेख में आपको...